शरीर में प्रोटीन की कमी दिखाते हैं ये 5 लक्षण, भूलकर भी न करें नजरअंदाज

स्वस्थ जीवन के लिए यह आवश्यक है कि शरीर में सभी पोषक तत्वों की पूर्ति हो। प्रोटीन एक ऐसा पोषक तत्व है जो शरीर को मजबूत बनाता है और त्वचा, मांसपेशियों और हार्मोन के विकास के लिए आवश्यक है। यही कारण है कि जब भी शरीर में प्रोटीन की कमी होती है तो कई बीमारियां और लक्षण अपने आप बॉडी में देखने को मिलते हैं।

शरीर में प्रोटीन की कमी दिखाते हैं ये 5 लक्षण, भूलकर भी न करें नजरअंदाज
Protein Deficiency Symptoms

स्वस्थ जीवन के लिए यह आवश्यक है कि शरीर में सभी पोषक तत्वों की पूर्ति हो। प्रोटीन एक ऐसा पोषक तत्व है जो शरीर को मजबूत बनाता है और त्वचा, मांसपेशियों और हार्मोन के विकास के लिए आवश्यक है। यही कारण है कि जब भी शरीर में प्रोटीन की कमी होती है तो कई बीमारियां और लक्षण अपने आप बॉडी में देखने को मिलते हैं।

ऐसे में समय रहते इन लक्षणों पर ध्‍यान देना जरूरी है यहां हमने कुछ लक्षणों और बीमारियां के बारे में विस्‍तार से बात की है अगर आप अपने शरीर में ऐसे ही संकेत देखते हैं तो आपको अपने आहार में प्रोटीन जोड़ने की आवश्‍यकता है। इन संकेतों को नजरअंदाज करना सेहत पर भारी पड़ सकता है। तो आइए जानते हैं प्रोटीन की कमी दिखाने वाले लक्षणों के बारे में।

प्रोटीन की कमी दिखाते हैं ये 5 लक्षण Protein Deficiency Symptoms

1. मांसपेशियों में दर्द

मांसपेशियों के निर्माण में प्रोटीन सबसे महत्वपूर्ण भूमिका निभाता है। ऐसे में अगर शरीर में प्रोटीन की कमी हो जाए तो मांसपेशियों में दर्द और खिचाव होना चालू हो जाता है। इसलिए अगर आपके शरीर में मसल्‍स पेन है तो समय आ गया है आप अपने आहार में प्रोटीन की मात्रा बढ़ाएं।

यह भी जरूर पढें – कितना सुरक्षित है मसल्‍स बिल्डिंग के लिए प्रोटीन पाउडर का उपयोग, यहां जानें प्रोटीन पाउडर से जुडे सवालों के जबाव

2. बार-बार भूख लगना

शरीर में प्रोटीन की कमी तेज भूख को बढावा देती है यदि आप भोजन में पर्याप्त प्रोटीन नहीं लेते हैं, तो आपको बहुत जल्दी भूख लगती है। और बार बार खाना खाने की लालसा होती है, जिससे वजन बढ़ने लगता है। बार-बार भूख लगने से बचने के लिए जरूरी है कि खाने में प्रोटीन की मात्रा ज्‍यादा लें।

3. त्वचा, बाल और नाखून की समस्याएं

प्रोटीन की कमी अक्सर त्वचा, बालों और नाखूनों पर अपनी छाप छोड़ती है, जो काफी हद तक प्रोटीन से बने होते हैं।

उदाहरण के लिए, बच्चों में kwashiorkor को परतदार या विभाजित त्वचा, लाली और विकृत त्वचा के पैच द्वारा प्रोटीन की कमी को पहचाना जा सकता है।

इसके अलावा बालों का पतला होना, फीके बालों का रंग, बालों का झड़ना (खालित्य) और भंगुर नाखून भी सामान्य लक्षण हैं प्रोटीन की कमी के सामान्‍य लक्षण हैं।

5. बार-बार बीमार होना

जिन लोगों में प्रोटीन की कमी होती है उन्हें हर समय थकान महसूस होती है इसके अलावा संक्रमण और अन्य बीमारियों का खतरा सबसे अधिक होता है, जिससे व्यक्ति बार-बार बीमार पड़ने लगता है।

6. फैटी लीवर

प्रोटीन की कमी के मामलों में ऐसा क्यों होता है यह स्पष्ट नहीं है, लेकिन अध्ययनों से पता चलता है कि वसा-परिवहन प्रोटीन का एक बिगड़ा हुआ संश्लेषण, जिसे लिपोप्रोटीन के रूप में जाना जाता है, प्रोटीन की कमी से लीवर से जुड़ी कई समस्‍याएं सामने आती हैं।

यह भी जरूर पढें – अंडा या पनीर जानिए क्‍या है प्रोटीन का सबसे अच्‍छा स्‍त्रोत

प्रोटीन की कमी से होने वाली बीमारियां:

  • बार बार बुखार।
  • संक्रामक रोग या त्‍वचा संक्रमण।  
  • बच्चों में लंबाई रूकना।
  • सांस से जुड़ी बीमारियां।
  • शरीर में ऊर्जा की कमी।
  • सेक्‍सअुल स्‍टेमिना में कमी।
  • चिडचिड़ापन।

प्रोटीन की कमी दूर करने के लिए खाएं ये चीजें

  • डेयरी उत्पाद जैसे दूध, दही, पनीर, पनीर।
  • डाइट में रोजाना अंडे का सेवन करें।
  • सूखे मेवे और बीज और बीन्‍स।
  • हरी सब्जियां।
  • पीटन बटर या मूंगफली।
  • अंकुरित मूंग और चने।
  • मछली
  • सभी प्रकार की दालें।
  • साबुत अनाज, बाजरा या ओटमील
  • सोयाबीन आटा रोटी।
  • भुना हुआ चिकिन।

यह भी जरूर पढें – Natural Protein Sources: 9 हाई प्रोटीन सोर्स जो मसल्‍स बिल्डिंग में करेगें मदद