मांसाहारी है ये 9 चीजें जिन्‍हें आप शाकाहारी समझकर खाते हैं।

हम आपके लिए ऐसे खाद्य पदार्थों की एक सूची लेकर आए हैं जो आमतौर पर शाकाहारी समझ कर लोग खा रहे हैं, लेकिन इसमें कुछ मांसाहार सामग्री हो सकती है।

मांसाहारी है ये 9 चीजें जिन्‍हें आप शाकाहारी समझकर खाते हैं।

मांस खाने से मना करने वाले लोग अपने आप को शाकाहारी कहते हैं लेकिन वास्‍तव में आप आपको पता भी नहीं होता आप जिन चीजों को खा रहे हैं उनमें मांस मिला है या नहीं। हम जाने या अनजाने में कई ऐसे खाघ पदार्थों का सेवन कर लेते हैं जो दिखने में शाकाहारी लगते हैं लेकिन वास्‍तव में वह मांसाहारी पदार्थों की मिलावट होती है।

हम आपके लिए ऐसे खाद्य पदार्थों की एक सूची लेकर आए हैं जो आमतौर पर शाकाहारी समझ कर लोग खा रहे हैं, लेकिन इसमें कुछ मांसाहार सामग्री हो सकती है।

1. वाहइट शुगर

रिफाइंड वाहइट शुगर को एक प्रक्रिया से बनाया जाता है, जिसमें हड्डी को क्रतिम रूप से शुगर की पॉलिश के लिए उपयोग किया जाता है। अमेरिका में कुछ कंपनियां इस प्रक्रिया का उपयोग ब्राउन शुगर के निर्माण के लिए भी करती हैं।

2. चीज पनीर

पार्मेसन चीज़ पनीर यानि पनीर की कुछ किश्‍मों में रेनेट नाम के एक एंजाइम का उपयोग किया जाता है, यह एंजाइम बकरी या बछड़े के पेट की परत में पाया जाता है और इसलिए यह तकनीकी रूप से शाकाहारी नहीं हैं। कुछ ब्रांड शाकाहारी-अनुकूल विकल्पों का उपयोग करते हैं, लेकिन आपको उनके लिए विशेष रूप से देखने की जरूरत है।

3. टॉर्टिला या नान

अधिकतर होटलों और रेस्‍ट्रोरंट में टॉर्टिला या नान की नरम बनावट के लिए लार्ड का उपयोग किया जाता है। नान के आटे को लचीला और सॉफ्ट बनाने के लिए इसमें अंडे का उपयोग किया जाता है।

4. ड्रेंसिंग सॉस या चटनी

अगर आप शाकाहारी हैं और बाजार के सॉस का इस्‍तेमाल करते हैं तो आपके लिए एक बुरी खबर है। पेस्टो सॉस सिर्फ पाइन नट्स, प्राकृतिक पदार्थों से नहीं बनते हैं।  इसमें रेनेट भी मिलाया जाता है। कई बार उनमें अंडे भी मिलाए जाते हैं।

5. च्युइंग गम और मिंट

अधिकतर च्‍युइंग गम और मिंट जो आप सामान्‍य तौर को खाते हैं उनकमें बीफ़ जिलेटिन होता है, जबकि कुछ चबाने वाली चीजों में ग्लिसरीन जैसे पशु वसा से प्राप्त सामग्री हो सकती है।

6. सॉफ्ट ड्रिंग्‍स

अगर आप पेक किए सॉफ्ट ड्रिंग्‍स जैसे संतरे का जूस, कोक आदि पीते हैं तो भी आप गलतफहमी हैं। इनमें जिलेटिन-व्युत्पन्न सामग्री का उपयोग स्टेबलाइजर्स के रूप में करते हैं। विशेष रूप से लाल रंग के पेय में कीड़ों से रंग का कोचीन शामिल हो सकता है।

कुछ कोल्ड्रिंग्‍स में ओमेगा -3 फैटी एसिड मिलाया जाता है जो मछली के तेल से आता है। साथ ही कुछ ड्रिग्‍स में लैनोलिन मिलाया जाता है, जो भेड़ के ऊन के फाइबर में पाया जाने वाला एक प्राकृतिक तेल है। इसलिए हमेशा एक बार सामग्री की जांच करें।

7. चॉकलेट्स

अंतरराष्ट्रीय कंपनीयां कुछ चॉकलेट्स में रेनेट - बछड़ों के पेट से निकाले गए पदार्थ - अपने लोकप्रिय चॉकलेट में करती हैं। कई चॉकलेट्स में पाउडर का किया जाता है और इनमें रेनेट एंजाइम का प्रचुर मात्रा में उपयोग किया जाता है।

8. डोनट

डोनट चीनी और जिलेटिन से बनाया जाता है – जोकि जानवरों की त्वचा, हड्डियों और खुरों से बना एक गाढ़ा और गेलिंग एजेंट। साथ ही डोनट आटे की कंडीशनिंग में सिस्‍टीन नाम के एंजाइम का उपयोग किया जाता है। हालांकि सभी डोनट्स इस प्रकार से नहीं बनाए जाते इसलिए खरीदते वक्‍त आपको ध्‍यान देने की जरूरत है।

9. कैंडीज

शेलैक को कई अलग-अलग प्रकार की कैंडीज में जोड़ा जाता है ताकि कठोर-लेपित बाहरी बनाया जा सके। यह शेलैक एक राल से बनाया गया है जो मादा बतख से प्राप्‍त होता है।

तो जैसा की आपने देखा ऐसे कई खाघ पदार्थ है जिनमें आप शाकाहारी समझकर खाते हैं लेकिन ऐसा नहीं है। पनीर से मिठाई तक, आपको हर चीज पर लेबल की जांच करने की आवश्यकता है, यह सुनिश्चित करने के लिए कि वे शाकाहारी हैं।