HomeTop Newsरोड से लेकर एयरपोर्ट तक अडानी, क्या 400 बार अडानी बोले Rahul...

रोड से लेकर एयरपोर्ट तक अडानी, क्या 400 बार अडानी बोले Rahul Gandhi?

राजनीति। बिजनेस की दुनिया में हम एक नाम कई बार सुन चुके हैं और वो है “अडानी”। दरअसल, हाल ही में अमेरिका की एक यूनिट हिंडनबर्ग ने अडानी को लेकर एक रिपोर्ट पेश की थी।

इस रिपोर्ट में बताया गया कि अडानी कंपनी ने निवेशकों के शेयरों में घोटाला किया है। फिर क्या था कंपनी के शेयर इस तरह गिरने चालू हुए जैसे टूटता हुआ तारा दिखाई देता है। फिलहाल मामला आसमान से गिरे और खजूर में अटके वाला है, कि शेयर फिलहाल अभी बैलेंस हैं।

मामले को लेकर तभी से तहलका मचा हुआ है। भारत में कई जगह अडानी को लेकर विरोध प्रदर्शन हुए। इस मुद्दे को विपक्षी पार्टियों ने भी खूब भुनाया और सड़क पर उतरकर काफी हंगामा मचाते रहे। कह सकते हैं कि सड़क से लेकर संसद तक अडानी का मामला पूरे देश में गूंजा।

Rahul Gandhi के PM से सवाल

लोकसभा में मंगलवार को कांग्रेस नेता राहुल गांधी (Rahul Gandhi) ने गौतम अडानी और हिंडनबर्ग रिपोर्ट पर सरकार और पीएम नरेंद्र मोदी से सवाल किए। राहुल ने 45 मिनट की स्पीच की शुरुआत भारत जोड़ो यात्रा के दौरान पूछे सवालों से की। फिर इन्ही सवालों से वे गौतम अडानी के मुद्दे पर आ गए।

राहुल ने कहा, “2014 में गौतम अडानी World के Rich List में 609वें नंबर पर थे। आखिर कुछ ही सालों में ऐसा क्या जादू हो गया कि वे दूसरे नंबर पर आ गए।” इस पर कांग्रेसियों ने चुटकी लेते हुए नारा लगाया ‘मोदी है तो मुमकिन है।’

फिर आगे क्या हुआ…

इस स्पीच के दौरान NDA मेंबर्स ने ऐतराज जताते कहा कि आप पीएम पर बिना सबूत के आरोप कैसे लगा सकते हैं? आपको देश से मांफी मांगनी चाहिए। राहुल की स्पीच के दौरान छोटे-मोटे हंगामे होते रहे और अडानी की बात को लेकर फोकस में दिखे।

भाजपा बोली- राहुल, सोनिया और बहनोई जमानत पर

बीजेपी नेता रविशंकर प्रसाद ने मंगलवार को लोकसभा में पलटवार किया। उन्होंने कहा कि Rahul Gandhi ने पीएम मोदी के खिलाफ फिजूल के आरोप लगाए हैं। कांग्रेस नेता उन सभी बड़े घोटाले में शामिल थे, जिसमें भारत की इमेज खराब हुई।

Rahul Gandhi
Credit: Google

राहुल को याद दिलाना चाहता हूं कि वे, उनकी मां और उनका बहनोई जमानत पर बाहर हैं। बोफोर्स में तो राजीव गांधी पर घोटाले का आरोप है। मैं उनसे पूछना चाहता हूं कि नेशनल हेराल्ड और अगस्ता वेस्टलैंड घोटाले क्या हैं?

वाड्रा DLF घोटाले में क्या हुआ। विजय माल्या को लोन देकर किसने बढ़ाया। नीरव मोदी और मेहुल चोकसी के इवेंट्स में कौन जाता था, आप जाते थे राहुल गांधी। आपकी भी तस्वीरें सामने आ रही हैं।

बीजेपी नेता ने कहा कि कांग्रेस की सरकारें कमीशन और डील पर चलती थीं। राफेल डील में कांग्रेस का कमीशन तय नहीं हो सका, इसलिए डील को देर तक टाला गया।

कॉलेज की जमीन पर गेस्टहाउस किसने बनाया- स्मृति ईरानी

लोकसभा में राष्ट्रपति के अभिभाषण पर चर्चा में हिस्सा लेते हुए स्मृति ईरानी ने राहुल पर तंज कसा। उन्होंने कहा कि आज एक सज्जन ने हमारे प्रधान सेवक पर कटाक्ष किया।

Rahul Gandhi
Credit: Google

लेकिन वो बताएं कि 1971 में एक फाउंडेशन ने मेडिकल कॉलेज के लिए 623 रुपये रेंट पर 30 साल के लिए 40 एकड़ जमीन ली थी। लोगों ने कई बार कहा कि यहां कॉलेज खोलना है, फिर भी एक परिवार ने वहां गेस्टहाउस बना दिया। अब वहां मोदी सरकार ने पहला मेडिकल खोला है।

अडानी पर Rahul Gandhi के 2 सवाल

  1. युवा पूछते थे कि अडानी जी 8 बिलियन डॉलर से 140 बिलियन डॉलर पहुंच गए?

Rahul Gandhi ने भारत जोड़ो यात्रा को याद करते हुए कहा, “एक सवाल तमिलनाडु, महाराष्ट्र, मध्यप्रदेश, केरल सहित सब जगह सुनने में आया। युवा मुझसे पूछते थे कि अडानी जी बिजनेस में चले जाते हैं, सफल होते हैं, कभी फेल नहीं होते?

अडानी जी पहले एक-दो बिजनेस करते थे और अब 8-10 सेक्टर्स में काम करते हैं? 2014 से लेकर 2022 तक 8-140 बिलियन डॉलर तक कैसे पहुंच गए? युवाओं ने कहा कि मोदी जी स्टार्टअप की बात करते हैं, हमें भी सक्सेस प्राप्त करनी है? आप बताएं”

2. सब जगह अडानी कैसे?

Rahul Gandhi बोले, “दुनिया के सबसे अमीर लोगों की लिस्ट आती है। 2014 में अडानी 609 पर थे, सबसे पीछे। जादू हुआ तो दूसरे नंबर पर पहुंच गए।

Rahul Gandhi
Credit: Google

हिमाचल में सेब की बात होती है तो अडानी, कश्मीर में सेब तो अडानी, पोर्ट और एयरपोर्ट सब जगह अडानी जी, सड़क पर चले तो अडानी। लोगों ने पूछा कि अडानी जी इतने सफल कैसे हुए?”

तस्वीर दिखाकर पूछा रिश्ता

Rahul Gandhi ने एक तस्वीर सदन में दिखाई, इसमें मोदी और गौतम अडानी नजर आ रहे थे। एनडीए सदस्यों ने इसका विरोध किया। सभापति ओम बिड़ला ने Rahul Gandhi को टोका और स्पीच फिर शुरु की गई। Rahul Gandhi ने कहा, इनका हिंदुस्तान के पीएम से क्या संबंध है और कैसा संबंध है?

फिर खुद देने लगे जवाब

Rahul Gandhi ने कहा, “ अडानी और मोदी जी के रिश्ते के बारे में बता देता हूं। ये रिश्ता कई साल पहले शुरू होता है, जब मोदी जी गुजरात के मुख्यमंत्री थे।

Rahul Gandhi
Credit: Google

मोदी और अडानी साथ रहे और मोदी जी को आइडिया दिया गया कि आप बिजनेसमैन के ग्रुप को साथ लाएं और वाइब्रेंट गुजरात बनाएं। मुझे लगता है कि तब से असली जादू शुरू हुआ।”

Rahul Gandhi के 4 दावे

  1. अडानी को एयरपोर्ट देने के लिए बदले नियम

Rahul Gandhi ने दावा किया कि अब एयरपोर्ट की बात करते हैं। कुछ साल पहले सरकार ने भारत के एयरपोर्ट्स को डेवलप करने के लिए दिया। नियम था कि कोई भी जिसे पहले अनुभव ना हो, वो डेवलपमेंट में शामिल नहीं हो सकता है।

इस नियम को भारत की सरकार ने बदला। रूल बदला और अडानी को 6 एयरपोर्ट दिए गए। दुनिया का सबसे ज्यादा फायदेमंद मुंबई एयरपोर्ट को KVK से हाईजैक कर लिया।

CBI और ED का यूज करके हिंदुस्तान के उस एयरपोर्ट में आज अडानी जी की भागीदारी 24 फीसदी है। हिंदुस्तान की सरकार और पीएम ने ये सुविधा दी है।

हालांकि कांग्लोमेरेट जीवीके के वाइस चेयरमैन वी संजय रेडेडी ने बाद में NDTV से कहा कि अडानी ग्रुप या किसी और का मुंबई एयरपोर्ट बेचने के लिए कोई प्रेशर नहीं था।

  1. जिस देश में पीएम गए, वहां अडानी को प्रोजेक्ट कैसे?

Rahul Gandhi बोले, “अब हम फॉरेन पॉलिसी की बात करते हैं। डिफेंस से शुरू करते हैं। डिफेंस में अडानी जी का जीरो अनुभव था। मैने पीएम को HAL में देखा।

बोल रहे थे कि कॉनट्रैक्ट को लेकर गलत आरोप लगाए गए। असलियत है कि 126 हवाई जहाजों का जो HAL का कॉन्ट्रैक्ट था, वो अनिल अंबानी को चला गया। वो बैंकरप्ट हो गए।

Rahul Gandhi
Credit: Google

पीएम इजराइल जाते हैं और फिर अडानी जी को ड्रोन को री-फिट करने का ठेका मिल जाता है। इनके पास चार डिफेंस की कंपनियां हैं। इजराइल में पीएम जाते हैं, उसके बाद अडानी को जादू से मेंटेनेंस का कॉन्ट्रेक्ट मिल जाता है। इजराइल ड्रोन और छोटे हथियारों का ठेका मिल जाता है।”

  1. श्रीलंका के राष्ट्रपति ने कहा, मोदी ने ठेका के लिए दबाव डाला

Rahul Gandhi ने दावा किया, कि आपने देखा कि एयरपोर्ट बिजनेस में 30 फीसदी मार्केट शेयर, भारत-इजराइल का डिफेंस बिजनेस 90 प्रतिशत ले गए। ऑस्ट्रेलिया पीएम जाते हैं और जादू से SBI 1 बिलियन डॉलर का लोन अडानी को देता है।

इसके बाद बांग्लादेश में गए वहां इलेक्ट्रिसिटी बेचने का फैसला लिया गया। कुछ दिन बाद बांग्लादेश पावर डेवलपमेंट बोर्ड 25 साल का ठेका अडानी जी के साथ साइन करता है।

श्रीलंका की बात करते हैं। जून 2022 में इलेक्ट्रिसिटी बोर्ड के चेयरमैन ने संसद में बताया कि राष्ट्रपति राजपक्षे ने उनसे कहा था कि मोदी जी ने उन पर दबाव डाला था कि अडानी को विंड पावर प्रोजेक्ट दे दिया जाए।

  1. पब्लिक सेक्टर बैंकों का पैसा अडानी को

Rahul Gandhi ने सरकार पर आरोप लगाते हुए कहा कि यह हिंदुस्तान की फॉरेन पॉलिसी नहीं, ये अडाणी जी की फॉरेन पॉलिसी है। यात्रा में लोगों ने सवाल किया कि LIC का पैसा अडानी जी की मदद के लिए क्यों डाला जा रहा है?

Rahul Gandhi
Credit: Google

उन्होंने कहा कि अडानी जी की मदद प्रधानमंत्री और सरकार करती है। हजारों करोड़ रुपये भारत के पब्लिक सेक्टर बैंक्स से अडानी जी को मिलता है। SBI 27 हजार, PNB 7000… लिस्ट लंबी है। एलआईसी का एक्सपोजर 36 हजार करोड़ है। इनका पैसा मिस्टर अडानी को जाता है।

पीएम मोदी से 7 सवाल पूछे

  1. हिंडनबर्ग रिपोर्ट में लिखा गया कि देश के बाहर अडानी जी की शेल कंपनियां हैं, सरकार बताए ये कंपनियां किसकी हैं?
  2. शेल कंपनियों से आ रहा पैसा किसका?
  3. अडानी जी हिंदुस्तान के पोर्ट्स-एयरपोर्ट, डिफेंस को डॉमिनेट करते हैं। शेल के बारे में सवाल क्यों नहीं? ये राष्ट्रीय सुरक्षा का मामला है।
  4. प्रधानमंत्री जी आपकी फॉरेन ट्रिप्स पर अडानी जी कितनी बार साथ गए?
  5. कितनी बार आपकी विदेश यात्राओं में अडानी जी ने आपसे मुलाकात की?
  6. पीएम जी के विदेश दौरों के बाद उस देश में अडानी जी कितनी बार गए?
  7. अडानी जी ने कितने पैसे बीजेपी को दिए हैं? इलेक्ट्रोरल बॉन्ड में अडानी जी ने कितने पैसे दिए हैं?

Also Read: RBI Hiked Repo Rate and Predicts GDP Growth For FY 2023-24!! Check Out Details…

ये भी आरोप- अग्निवीर योजना NSA ने थोपी

Rahul Gandhi ने स्पीच की शुरुआत में कहा, “भारत जोड़ो के दौरान कई बातें सुनने मिलीं। बेरोजगारी, महंगाई और किसान मुख्य मुद्दे थे।युवाओं ने कहा कि पहले 15 साल की सर्विस और पेंशन मिलती थी। अब 4 साल के बाद निकाल दिया जाएगा।

आर्मी के वरिष्ठ अधिकारियों का कहना है कि अग्निवीर संघ और गृह मंत्रालय ने थोपी है। मुझे लगता है कि अजित डोभाल जी ने ये योजना थोपी है।”

Also Read: Motion to Thanks Debate: PM Modi Made These Sarcastic Remarks on Rahul Gandhi!!

विपक्ष और कांग्रेस ने JPC की मांग की

विपक्षी दलों की मांग है कि अडानी ग्रुप के वित्तीय लेनदेन की जांच संसदीय पैनल (JPC) या सुप्रीम कोर्ट की कमेटी से करवाई जाए। इसके लिए सोमवार को कांग्रेस ने देशभर में LIC और SBI ऑफिस के बाहर अपनी मांग को लेकर प्रदर्शन भी किया।

Also Read: Rajya Sabha: सभापति-नेता विपक्ष के नोकझोंक के बीच मोदी को आई हंसी

RELATED ARTICLES
- Advertisment -

Most Popular