Dengue fever: तेजी से फैल रहे डेंगू बुखार से इस प्रकार करें बचाव

कुछ दिनों पहले फिरोजाबाद यूपी से आई खबरों के अनुसार 10 दिनों मे लगभग 40 बच्‍चो की मौत डेंगू की वजह से हुई है। डेंगू बुखार एक वायरल संक्रमण है जो कई तरह के लक्षण पैदा कर सकता है, जिसमें जानलेवा बीमारी, मामूली फ्लू जैसी बीमारी, या कभी-कभी बिल्कुल भी लक्षण नहीं होते हैं।

Dengue fever: तेजी से फैल रहे डेंगू बुखार से इस प्रकार करें बचाव
डेंगू बुखार

कुछ दिनों पहले फिरोजाबाद यूपी से आई खबरों के अनुसार 10 दिनों मे लगभग 40 बच्‍चो की मौत डेंगू की वजह से हुई है। डेंगू बुखार एक वायरल संक्रमण है जो कई तरह के लक्षण पैदा कर सकता है, जिसमें जानलेवा बीमारी, मामूली फ्लू जैसी बीमारी, या कभी-कभी बिल्कुल भी लक्षण नहीं होते हैं।  

रोग नियंत्रण और रोकथाम केंद्र (सीडीसी) के अनुसार, बारिश के मौसम मे डेंगू फैलने का खतरा सबसे ज्‍यादा बताया गया है। यहां हमने डेंगू के लक्षण और उपचार के बारे में कुछ बातें बताई हैं जो आपको डेंगू जैसी जानलेवा बीमारी से सुरक्षित रखने में मदद कर सकते हैं।

डेंगू के लक्षण: Symptoms of Dengue 

डेंगू एक वायरल फीवर है जो मादा मच्‍छर के काटने से फैलता है, इसके लक्षण मच्‍छर काटने के 5 से 7 दिन बाद नजर आते हैं। डेंगू होने पर शरीर इन लक्षणों को दिखाता है।

  • डेंगू के हल्के लक्षणों को जैसे बुखार, दर्द सामान्‍य हैं, (आंखों में दर्द, आमतौर पर आंखों के पीछे, मांसपेशियों, जोड़ों या हड्डियों में दर्द)।
  • डेंगू का प्रमुख लक्षण तेज़ बुखार है। इसमें 102-103º F तक बुखार आना आम बात है।
  • बदन टूटना मांसपेशियों और हड्डियों में तेज दर्द डेंगू का लक्षण दिखाता है।
  • मतली उल्टी या जी मिचलाना। कभी कभी घबराहट महसूस होना।
  • कभी कभी डेंगू में रैशेस हो जाते है। इन रैशेस में कभी कभी खुजली भी होती है।
  • आँख के पीछे दर्द डेंगू बुखार में आँख के पीछे दर्द की शिकायत रहती है।
  • अगर आपको मौसम बदलने के दौरान या ज्‍यादा बारिश के मौसम ये लक्षण दिखाई दें तो डॉक्टर से परामर्श और मेडिकल जाँच कराएं।

बचाव कार्य- Dengue treatment and prevention

  • मच्छर काटने से बचाव करें- डेंगू के संक्रमण को रोकने का प्राथमिक तरीका उन क्षेत्रों में मच्छरों के काटने को रोकना है जहां डेंगू मौजूद है। हल्के रंग के कपड़े और कीट विकर्षक मदद कर सकते हैं।
  • डेंगू के लक्षणों की जांच करें और अपने स्वास्थ्य सेवा प्रदाता से तुरंत मिलें।
  • डेंगू से बीमार मरीज को जितना हो सके आराम करने दें।
  • तेज बुखार को नियंत्रित के लिए डॉक्‍टर द्वारा बताई गईं दवाएं खाएं।
  • हाइड्रेटेड रहने के लिए खूब सारे तरल पदार्थ पिएं। अतिरिक्त इलेक्ट्रोलाइट्स के साथ पानी या पेय पिएं।
  • हल्के लक्षणों के लिए, घर पर बीमार शिशु, बच्चे या परिवार के सदस्य की देखभाल करें।
  • अपने घर के अंदर डेंगू को फैलने से रोकें प्रभावित परिवार के सदस्य को काटने वाले मच्छर आगे भी काट सकते हैं और दूसरों को भी संक्रमित कर सकते हैं।
  • घर के सभी मच्छरों मारे और खाली कंटेनरों पानी भरने से रोके कोशिश करें की घर में कम से कम मच्‍छर हों।
  • मच्छरों से बचने के लिए खिड़कियों और दरवाजों पर स्क्रीन लगाएं। 

यह भी जरूर पढें - बरसात में होने वाली बीमारियाें से कुछ इस तरह से बचें, मप्र स्वास्थ्य विभाग ने जारी की एडवायजरी 

COVID-19 और डेंगू बुखार में क्‍या अंतर है?

डेंगू वायरस के लक्षण COVID-19 के समान हो सकते हैं, लेकिन गौर करने वाली बात ये है कि कोरोनवायरस SARS-CoV-2 के कारण होने वाली सांस की बीमारी है। बुखार, मतली और उल्टी, और बदन दर्द दोनों के लिए समान लक्षण हैं।

हालांकि, COVID-19 में एक संभावित विशिष्ट लक्षण स्वाद और गंध की कमी है, और आमतौर पर श्वसन संबंधी लक्षण जैसे खांसी और सांस की तकलीफ है।

जबकि दोनों में से अधिकांश लोग हल्की बीमारी का अनुभव करेंगे और घर पर ही ठीक हो जाएंगे, दोनों बीमारियां गंभीर हो सकती हैं और अस्पताल में भर्ती होने की आवश्यकता हो सकती है। अच्‍छी इम्‍युनिटी दोनों मे एक विशेष महत्‍व निभाती है।

यह भी जरूर पढें- सुरक्षित सेक्‍स: कंडोम के बारे में इन 5 मिथक से रहें दूर, यहां जाने सच्‍चाई