देश में पहली बार योग पर अध्ययन, नियमित योग करने वालों का मस्तिष्क 50 की उम्र में भी रहता है युवा 

योग पर हुए कई अध्ययनों में यह साबित हुआ है कि इसका लोगों के शरीर पर सकारात्मक प्रभाव पड़ता है। वहीं सोशल मीडिया पर भी ऐसे कई वीडियो मौजूद हैं, जिनमें यह साबित हुआ है कि योग मानव शरीर को स्वस्थ रखने में बहुत उपयोगी सिद्ध हुआ है। साथ ही नियमित योगब करने से कई गंभीर बीमारियां भी धीरे धीरे खत्म होने लगती हैं।

देश में पहली बार योग पर अध्ययन, नियमित योग करने वालों का मस्तिष्क 50 की उम्र में भी रहता है युवा 

योग पर हुए कई अध्ययनों में यह साबित हुआ है कि इसका लोगों के शरीर पर सकारात्मक प्रभाव पड़ता है। वहीं सोशल मीडिया पर भी ऐसे कई वीडियो मौजूद हैं, जिनमें यह साबित हुआ है कि योग मानव शरीर को स्वस्थ रखने में बहुत उपयोगी सिद्ध हुआ है। साथ ही नियमित योगब करने से कई गंभीर बीमारियां भी धीरे धीरे खत्म होने लगती हैं। 

लेकिन देश में पहली बार योग पर हुए एक अध्ययन में साबित हुआ है कि जो लोग नियमित योग करते हैं। उनका दिमाग 50 वर्ष की आयु में भी युवा बना रहता है। इस अध्ययन के नतीजे अनुसंधानकर्ताओं के लिए चौंकाने वाले साबित हुए हैं। 

30 साल के बाद डी जनरेशन की अवस्था में पहुंच जाता है दिमाग : 
योग पर हुआ यह अध्ययन रक्षा मंत्रालय के अनुसंधान संस्थान डीआरडीओ (DRDO) ने किया है। डीआरडीओ (Defense Research & Development Organization) के अनुसंधान में इस बात के सकारात्मक नतीजे सामने आए हैं कि यदि कोई व्यक्ति नियमित योग करता है तो उसका मस्तिष्क 40 से 50 वर्ष की आयु में भी 20 से 30 साली वाली स्थिति में बना रहता है। इस अध्ययन में न केवल दिमाग बल्कि उसकी स्थिति पर भी अध्ययन किया गया। 


इस अध्ययन में ब्लड प्रेशर, हाइपरटेंशन, हार्ट बीट, कोलेस्ट्राल और स्ट्रेस सहित अन्य कारकों का भी अध्ययन किया गया। अध्ययन में यह बात सामने आई कि मानव मस्तिष्क का विकास केवल 20 साल की आयु तक ही होता है और 30 साल के बाद इसमें धीरे-धीरे डी जेनरेशन की अवस्था शुरू हो जाती है।   

इस तरह हुआ यह अध्ययन : 
इस अध्ययन में 100 लोगों को शामिल किया गया। साथ ही इन लोगों को किसी तरह की कोई भी बीमारी नहीं थी। अध्ययन में शामिल सभी लोगों को तीन माह तक नियमित एक-एक घंटे याेग कराया गया। इसके बाद योग के पहले और बाद के परिणामों का अध्ययन किया गया। अध्ययन में तीन समूह बनाए गए जिसमें पहला समूह 20-29 आयु वर्ग, 30-39 आयु वर्ग और तीसरा समूह 40-50 आयुवर्ग के लोगों का था। 

इस दौरान ब्लड प्रेशर, हार्ट रेट और कोलेस्ट्रॉल लेवल का अध्ययन किया गया। अध्ययन के नतीजे चौंकाने वाले थे। नियमित योग करने वाले लोगों का ब्लड प्रेशर और टोटल कोलेस्ट्रॉल लेवल सामान्य स्थिति में पहुंच गया। नतीजों को वैज्ञानिकों के एलीट ग्रुप वाले अमेरिकन एजिंग एसोसिएशन के जर्नल में भी जगह दी गई। 

यह भी पढ़ें : हेपेटाइटिस से दुनिया में हर 30 सेकेंड में होती है एक व्यक्ति की मौत, जानें इस वायरस से बचने के उपाय