जानिए क्‍या होती है Rave Party जिसकी बदौलत आर्यन खान को हुई जेल

शाहरुख खान के बेटे आर्यन खान, जिन्हें कुछ दिनों पहले मुबंई से गोवा जा रहे एक क्रूज पर Rave Party करते हुए गिरफ्तार किया गया था उन्‍हें अब 14 दिन की हिरासत में भेज दिया गया है। 23 वर्षीय आर्यन खान को नारकोटिक्स कंट्रोल ब्यूरो (एनसीबी) ने सोमवार को सात अन्य लोगों के साथ गिरफ्तार किया था।

जानिए क्‍या होती है Rave Party जिसकी बदौलत आर्यन खान को हुई जेल

शाहरुख खान के बेटे आर्यन खान, जिन्हें कुछ दिनों पहले मुबंई से गोवा जा रहे एक क्रूज पर Rave Party करते हुए गिरफ्तार किया गया था उन्‍हें अब 14 दिन की हिरासत में भेज दिया गया है। 23 वर्षीय आर्यन खान को नारकोटिक्स कंट्रोल ब्यूरो (एनसीबी) ने सोमवार को सात अन्य लोगों के साथ गिरफ्तार किया था।

आर्यन खान पर आरोप है कि वे Rave Party में शामिल थे और उनके पास से ड्रग्‍स मिले हैं हालांकि कोर्ट में इस पर लगातार सुनवाई हो रही है लेकिन NCB आर्यन से जुड़ी सभी लिंक्‍स पर काम कर रही है। एक शब्‍द जो आर्यन खान के गिरफ्तार होने के बाद से लगातार चर्चाओं में है वह है Rave Party.

कई लोग इन बात से अंजान है कि Rave Party क्‍या होती है और क्‍यों ड्रग्‍स को लेकर ऐसी पार्टीयां चर्चाओं में रही हैं।

क्‍या होती है Rave Party ?

रेव पार्टी का मतलब है जोश और मौज-मस्ती से भरी महफिल,  अधिक सरल भाषा में कहा जाए तो रेव पार्टी डांस पार्टियां हैं। वर्तमान में इन पार्टीयों तेज-तर्रार, दोहराए जाने वाले इलेक्ट्रॉनिक संगीत और साथ में लाइट शो होते हैं जिनमें लोग नशे में धुत होकर डांस करते या देखते हैं।

Rave Party की शुरूआत 1950 के दशक में लंदन में हुई ये वो समय था जब लंडन के अमीर लोग किसी भी बिजनेस की डीलिंग करने के बाद सेलिब्रेशन के तौर पर वाइन पीकर, डांस करते थे। धीरे धीरे इन पार्टीयों और भी बदलाव आया बाद में इनमें जुआं, शराब और लडकियां नचाई जाने लगीं।

समय के साथ ये कल्‍चर बदला और इसमें और नशा शामिल हुआ, वर्तमान में ये पार्टीयां ड्रग्‍स का एक हब बन चुही हैं जिनमें ड्रग्‍स का सेवन किसा जाता है और ड्रग्‍स बेचने और खरीदने की डीलिंग भी होती है।  

रेव पार्टी ऑर्गेनाइज करने वाले सबसे पहले एक छोटा ग्रुप बनाते हैं और लोगों को बुलाने के लिए कोड लैंग्वेज का इस्तेमाल करते हैं। इन पार्टीयों चुनिंदा लोगों को ही बुलाया जाता है।

बहुत मंहगीं होती है इन पार्टियों की फीस-

इन पाटीयों में शामिल होना किसी आम आदगी की बस की बात नहीं है इन पार्टीयों का हिस्‍सा बनने के लिए लाखों में फीस देनी पड़ती है साथ ही इन पार्टीयों में करोड़ो के ड्रग्‍स की डीलिंग होती है। खुफिया तरीकों से पुलिस इन पार्टीओं के बारे मे पता करती है और छापे मारती है।

हाल ही में चर्चाओं में आयी क्रूज पार्टी पहला ऐसा मामला नहीं इससे पहले भी पुलिस और NCB कई बार रेड डालकर लोगों को गिरफ्तार कर चुकी है। 2009 में मुंबई में हुई एक रेव पार्टी में 273 युवाओं को गिरफ्तार किया गया था। जिसमें कई ड्रग्‍स भी बदामद हुए थे।

यह भी जरूर पढें- आर्यन खान के सपोर्ट में उतरे ऋतिक रोशन, नोट लिखकर दे डाली खास सलाह