क्‍या सच में होते हैं एलियन्‍स? ये 5 सबूत जानकर दंग रह जायेगें आप

एलियन्स का जिक्र होते ही हमारे मन में बहुत से सवाल आते है. क्या सच में एलियन्स होते है (are aliens real?). वो कैसे दिखते होंगे. क्या वो हम इंसानों जैसे ही रहते है. इस तरह के कई सवाल है जो एलियन्स के बारे में जानने के लिए हमारे अंदर रुचि पैदा कर देता है.

क्‍या सच में होते हैं एलियन्‍स? ये 5 सबूत जानकर दंग रह जायेगें आप
are aliens real

एलियन्स का जिक्र होते ही हमारे मन में बहुत से सवाल आते है. क्या सच में एलियन्स होते है? (are aliens real?) वो कैसे दिखते होंगे. क्या वो हम इंसानों जैसे ही रहते है. इस तरह के कई सवाल है जो एलियन्स के बारे में जानने के लिए हमारे अंदर रुचि पैदा कर देता है.

फिल्मों और किताबों में हमने कई बार दूसरे ग्रह से आए प्राणी के बारे में सुना और देखा है. सरल भाषा में इन्हें एलियन्स भी कहा जाता है. ये देखने में न तो पशु जैसे लगते हैं और न ही इंसानों जैसे, लेकिन उनके हाव-भाव बिल्कुल इंसानों जैसे बताए जाते है.

वैज्ञानिकों के जरिए यह पहले ही स्वीकार किया जा चुका है कि जिस तरह पृथ्वी पर इंसान बसते हैं उसी तरह दूसरे ग्रहों पर भी एलियन्स रहते हैं.

एलिएन्‍स पर वैज्ञानिकों की राय

  • यह ब्रह्मांड कितना बड़ा है इसकी कल्पना करना मुश्किल है. धरती के कई गुना बड़े करोड़ों ग्रह हमारे ब्रह्मांड में मौजूद है. इस ब्रह्मांड में लाखों गैलेक्सियां हैं. वैज्ञानिक धरती से रेडियो तरंगें भेजकर एलियन्स से राब्ता करने की कोशिश करते रहते है. लेकिन एलियन्स ने इंसान के किसी भी संदेश का जवाब अभी तक नहीं दिया है.
  • 1950 में मशहूर भैतिकविज्ञानी एनरिको फ़र्मी का मानना था कि इस ब्रह्मांड में इंसानों जैसी कई और बुद्धिमान सभ्यताएं अलग-अलग ग्रहों पर मौजूद हैं. लेकिन सवाल यहीं आता है कि आखिर इनसे संपर्क क्यों नहीं हो पा रहा है. सर्च फॉर एक्स्ट्रा टेरेस्ट्रियल इंटेलिजेंस यानी एसईटीआई संस्था कई सालों से इस सवाल का जवाब तलाश रही है.
  • एक स्टडी में बताया गया कि 39% से 85% संभावना है कि ब्रह्मांड में इंसान अकेला जीवित बुद्धिमान प्राणी है. हालांकि वैज्ञानिकों ने यह भी लिखा कि अगर भविष्य में एलियंस की संभावनाएं होती है तो इसमें हमे हैरान नहीं होना चाहिए.

वर्तमान में यूएफओ यानी उड़न तश्तरियों पर एलियन्स का विषय जिज्ञासा का केंद्र बना हुआ है. काफी लोग यह दावा कर चुके हैं कि उन्होंने आसमान में एलियन्स को देखा है. लेकिन अभी तक ऐसे कथनों को सिर्फ भ्रम ही माना जाता है. 

अब तक के अध्ययनों में दुनियां का कोई भी देश या वैज्ञानिक संगठन ने एलियन की अवधारणा को पूरी तरह से नकारा नहीं है. कुछ वैज्ञानिकों का कहना है कि एलियन छुप-छुप कर धरती पर आते है और मानव जीवन पर पूरी नज़र रखते है.

बुल्गारिया के वैज्ञानिकों का कहना है कि एलियन धरती पर स्वतंत्र रूप से रहते है और हमसे मदद की अपेक्षा रखते हैं

क्या कहती है पेंटागन की UAP की रिपोर्ट ?

साल 2021 में पेंटागन के अनआइडेंटिफाइड एरियल फेनोमेना (UAP) टास्क फोर्स द्वारा जारी अनक्लासिफाइड रिपोर्ट के बाद एलियंस के होने और न होने को लेकर अटकलें तेज़ हो गई है.

न्यूयॉर्क टाइम्स ने अपनी खबर में लिखा कि अनक्लासिफाइड रिपोर्ट में पिछले दो दशकों में UFO देखे जाने की 120 से ज्यादा घटनाओं और एलियन्स के पृथ्वी पर आने की संभावना के बीच कोई स्पष्ट संपर्क नहीं देती है.  

एलियन्स के विषय में अब तक दुनिया के वैज्ञानिकों ने क्या कुछ कहां, जानिए...

  • दक्षिणी क्वींसलैंड विश्वविद्यालय में Astrophysics के प्रोफेसर जोंटी हॉर्नर ने कहा कि एलियन्स ब्रह्मांड में मौजूद है. लेकिन सवाल यह है कि क्या एलियंस हमारे इतने करीब हैं कि हम उन्हें खोज पाऐंगे.
  • कर्टिन विश्वविद्यालय के प्रोफेसर स्टीवन टिंगे और जॉन कर्टिन कहते हैं कि एलियंस हो सकते हैं, लेकिन यह एक साहसिक दावा है. एलियंस से हमारा मतलब हर उस तरह के जीवन से है जो हमारी पृथ्वी के अलावा किसी अन्य स्थान पर मौजूद है.
  • ऑस्ट्रेलियाई न्यूक्लियर साइंस एंड टेक्नोलॉजी ऑर्गनाइजेशन के हेलेन मेनार्ड-केसली कहती हैं कि यह केवल कुछ समय की बात है जब हम कुछ ऐसा ढूंढ लेंगे जो पृथ्वी के अलावा कहीं और जीव विज्ञान जैसा दिखता हो. ऐसा इसलिए है क्योंकि हम अपने सौर मंडल में तेजी से कई संभावित क्षेत्र ढूंढ रहे हैं, जहां जीवन के पनपने की परिस्थितियां हो सकती हैं.
  • हेलेन मेनार्ड कहते हैं कि हम चीजों को पृथ्वी पर जीवन की परिस्थितियों से जोड़कर देख रहे हैं, जबकि निश्चित रूप से दूसरे ग्रहों पर जीवन हमारे अपने से बहुत अलग हो सकता है. इसलिए मैं शनि के चंद्रमा टाइटन के और अन्वेषण को लेकर वास्तव में उत्साहित हूं. टाइटन की सतह पर दिलचस्प अणुओं की एक पूरी श्रृंखला मौजूद है. साथ ही उनके ट्रांसपोर्टेशन के लिए सक्रिय मौसम प्रणाली भी है. इन बातों को ध्यान में रखते हुए, यह वास्तव में निश्चित लगता है कि हम कहीं न कहीं कुछ सक्रिय जीवन खोज पाऐंगे.
  • स्विनबर्न आईटी यूनिवर्सिटी के रेबेका एलन का कहना है कि शायद एलियन हमारे जैसे नहीं दिखते है. ये ऐसी जगहों पर उत्पन्न हो सकते हैं जहां जीवन की कोई आशा नहीं होती है. जैसे ज्वालामुखीय छेदों के आसपास कीचड़ में. ऐसे में मैं शर्त लगा सकता हूं कि एलियंस जीवन इन चरमपंथियों के रूप में मौजूद हैं.
  • रूसी अख़बार के मुताबिक, अमेरिका के अंतरिक्ष यात्री जब चांद पर पहुंचे थे तो उन्हें वहां एलियन दिखाई दिए थे, जिन्होंने अमेरिकियों को वहां से चले जाने को कहा था.

अमेरिकन अंतरिक्ष यात्री और लेखक कार्ल सागन लिखती है कि ब्रह्मांड बहुत बड़ा है. अगर इस ब्रह्मांड में सिर्फ हम हैं तो यह बर्बादी है. हालांकि, NASA वैज्ञानिक डॉ. लिंडसे वादा करती हैं और कहती है कि इस बात का स्पष्ट रूप से हम पता लगाकर रहेंगे कि धरती के अलावा किसी और ग्रह पर जीवन है या नहीं। 

Also Read: ब्रेकिंग न्यूज: अमेरिका के साथ मिलकर काम कर रहे हैं एलियन्स, अंतरिक्ष वैज्ञानिक का दावा पढिए पूरी खबर-