World Heritage Day 2022: भारत की 40 जगह शामिल है विश्व धरोहरों में, यहां देखे लिस्ट

World Heritage Day 2022: हर साल 18 अप्रैल को विश्व की ऐतिहासिक धरोहरों के निर्माण और उनको बचाए रखने के लिए विश्व धरोहर दिवस मनाया जाता है। जिससे की लोग अपनी संस्कृति और परंपरा को करीब से समझ सकें। इसके लिए ICOMOS हर साल एक थीम निर्धारित करता है और फिर उसी थीम के अनुसार World Heritage Day मनाया जाता है।

World Heritage Day 2022: भारत की 40 जगह शामिल है विश्व धरोहरों में, यहां देखे लिस्ट
World Heritage Day 2022

World Heritage Day 2022: हर साल 18 अप्रैल को विश्व की ऐतिहासिक धरोहरों के निर्माण और उनको बचाए रखने के लिए विश्व धरोहर दिवस मनाया जाता है। जिससे की लोग अपनी संस्कृति और परंपरा को करीब से समझ सकें। इसके लिए ICOMOS हर साल एक थीम निर्धारित करता है और फिर उसी थीम के अनुसार World Heritage Day मनाया जाता है। इस वर्ष World Heritage Day की Theme ‘Heritage and Climate’ रखी गई है।

क्यों मनाया जाता है विश्व धरोहर दिवस

विश्व धरोहर दिवस को मनाने का उद्देश्य दुनिया के ऐतिहासिक, सांस्कृतिक और प्राकृतिक चीजों के संरक्षण के प्रति लोगों को जागरूक करना है। पुरानी इमारतें और स्थल समय के साथ जर्जर हो जाते हैं लेकिन फिर भी वो इतिहास के गवाह होते हैं। जिसके चलते उनका संरक्षण अत्यंत आवश्यक होता है।

History of World Heritage Day

सन् 1968 में स्टॉकहोम में आयोजित हुए अंतरराष्ट्रीय सम्मेलन में एक अंतरराष्ट्रीय संगठन ने दुनिया भर की प्रसिद्ध इमारतों और प्राकृतिक स्थलों की सुरक्षा का प्रस्ताव प्रस्तुत किया। जिसके बाद यूनेस्को वर्ल्ड हेरिटेज सेंटर की स्थापना हुई। 18 अप्रैल 1978 में विश्व स्मारक दिवस के तौर पर इस दिन को मनाने की शुरुआत हुई। उस दौरान विश्व में कुल 12 स्थलों को ही विश्व स्मारक स्थलों की सूची में शामिल किया गया था। बाद में 18 अप्रैल 1982 को ट्यूनीशिया में 'इंटरनेशनल काउंसिल ऑफ मोनुमेंट्स एंड साइट्स' ने सबसे पहले विश्व धरोहर दिवस मनाया। उसके एक साल बाद नवंबर 1983 में यूनेस्को ने स्मारक दिवस को 'विश्व विरासत दिवस' के तौर पर मनाने की घोषणा की।

Also Read: Food Quiz: भारतीय खाने के शौकीन हैं तो ये क्विज़ खलकर करें साबित

भारत की विश्व धरोहर

भारत की पहली विश्व धरोहर महाराष्ट्र में स्थित एलोरा की गुफाएं हैं। वर्तमान में भारत में 40 विश्व धरोहरे हैं। यूनेस्को ने जिन 40 विश्व धरोहरों को घोषित किया है,उसमें सात प्राकृतिक, 32 सांस्कृतिक और एक मिश्रित स्थल हैं।

भारत में सांस्कृतिक स्थल (32)

भारत में प्राकृतिक स्थल (7)

 

भारत के मिश्रित स्थल (1)

आगरा का किला (1983)

ग्रेट हिमालयन नेशनल पार्क संरक्षण क्षेत्र (2014)

कंचनजंगा राष्ट्रीय उद्यान (2016)

अजन्ता की गुफाएँ (1983)

केवलादेव राष्ट्रीय उद्यान (1985)

 

नालंदा महाविहार का पुरातात्त्विक स्थल (2016)

मानस वन्यजीव अभयारण्य (1985)

 

 

सांची का बौद्ध स्मारक (1989)

नंदा देवी और फूलों की घाटी राष्ट्रीय उद्यान (1988, 2005)

 

छत्रपति शिवाजी महाराज टर्मिनस (विक्टोरिया टर्मिनस) (2004)

काजीरंगा राष्ट्रीय उद्यान (1985)

 

गोवा के चर्च और मठ (1986)

पश्चिमी घाट (2012)

 

एलीफेंटा की गुफाएँ (1987)

 

 

अजंता और एलोरा की गुफाएँ

 

 

फतेहपुर सीकरी (1986)

 

 

ग्रेट लिविंग चोल मंदिर (1987, 2004)

 

 

हम्पी में स्मारकों का समूह (1986)

 

 

महाबलीपुरम में स्मारक समूह (1984)

 

 

पट्टदकल समूह के स्मारक (1987)

 

 

राजस्थान के पर्वतीय किले (2013)

 

 

ऐतिहासिक शहर अहमदाबाद (2017)

 

 

हुमायूँ का मकबरा, दिल्ली (1993)

 

 

जयपुर शहर, राजस्थान (2019)

 

 

खजुराहो समूह के स्मारक (1986)

 

 

महाबोधि मंदिर परिसर, बोधगया (2002)

 

 

भारत के पर्वतीय रेलवे (1999, 2005, 2008)

 

 

दार्जिलिंग पर्वतीय रेलवे

 

 

नीलगिरि पर्वतीय रेलवे

 

 

कालका-शिमला रेलवे

 

 

कुतुब मीनार और इसके अन्य स्मारक,

नई दिल्ली (1993)

 

 

रानी की वाव, पाटन (2014)

 

 

लाल किला परिसर, दिल्ली (2007)

 

 

भीमबेटका के शैल आवास, मध्य प्रदेश (2003)

 

 

सूर्य मंदिर, कोणार्क (1984)

 

 

ली कार्बूजियर का वास्तुकला कार्य,

चंडीगढ़ (2016)

 

 

जंतर-मंतर, जयपुर (2010)

 

 

विक्टोरियन गोथिक एवं आर्ट डेको इंसेबल्स, मुंबई (2018)

 

 

 Also Watch: Guess The Celebs By Their Eyes Challenge | By Agnito Lifestyle