Women’s day special: दोनों हाथ नही हैं फिर भी लैपटाप चलाने से लेकर लिखाई तक हर काम कर लेती हैं प्रगति

आज महिला दिवस के मौके पर हम बात करने जा रहे हैं यूपी के मुरादाबाद की एक ऐसी युवती की जिन्‍होनें एक दुर्घटना में अपने दोनों हाथ गवा दिए लेकिन इसके बाद भी हिम्‍मत नहीं हारी और संघर्षो से लड़ते हुए सफलता प्राप्‍त की।

Women’s day special: दोनों हाथ नही हैं फिर भी लैपटाप चलाने से लेकर लिखाई तक हर काम कर लेती हैं प्रगति
Women’s day special: दोनों हाथ नही हैं फिर भी लैपटाप चलाने से लेकर लिखाई तक हर काम कर लेती हैं प्रगति

Women’s day के मौके पर पूरा देश महिलाओं की उप‍लब्धियों के बारे में बात कर रहा है, दुनिया में ऐसी महिलाओं की कमी नहीं है जिन्‍होनें संघर्षो से लड़ना सीखा और अपने जीवन में सफलता प्राप्‍त की। आज महिला दिवस के मौके पर हम बात करने जा रहे हैं यूपी के मुरादाबाद की एक ऐसी युवती की जिन्‍होनें एक दुर्घटना में अपने दोनों हाथ गवा दिए लेकिन इसके बाद भी हिम्‍मत नहीं हारी और संघर्षो से लड़ते हुए सफलता प्राप्‍त की।

कौन हैं प्रगति

प्रगति मुरादाबाद की एक टीज़र हैं जो गरीब बच्‍चों को पढ़ाती हैं। प्रगि‍त ने अपने दोनों हाथ 2010 में अनजाने में एक बिजली के तार को छूने से खो दिए थे। लेकिन इसके बावजूद भी प्रगति ने अपने दुर्घटनाग्रस्‍त हाथों को ट्रेन किया धीरे धीरे लिखना सीखा, प्रगति आप अपने हाथों से लिख सकती हैं इतना ही उनकी टाइपिंग स्‍पीड इतनी है कि लोग यह देखकर दंग रह जाते हैं।

10वी 12वी की टॉपर हैं प्रगति

यह बात शायद आपको हैरान कर देगी लेकिन दुर्घटना में अपने हाथ गवानें का बावजूद भी प्रगति 10 और 12वी में टॉप कर चुकी हैं इतना ही नहीं ग्रेजुयेशन में भी प्रगति टॉपर हैं।

प्रगति कहती हैं "मैं बस सभी महिलाओं को यह कहना चाहती हूं कि अपने सपनों को नहीं छोड़ना चाहिए और अपने जीवन में सफल होने के लिए कड़ी मेहनत जारी रखना चाहिए," प्रगति देश भर में कई महिलाओं को अंतर्राष्ट्रीय महिला दिवस के अवसर पर महिलाओं को प्रेरित करती हैं।

यह भी जरूर पढ़ें- Happy women’s day: महिलाओं के लिए नर्क से कम नहीं ये 10 देश, भारत का नाम भी शामिल