Advertisment
Homeटॉप न्यूज़Lal Bahadur Shastri: अपने जीवन के अंतिम समय तक लगभग 18 महीने...

Lal Bahadur Shastri: अपने जीवन के अंतिम समय तक लगभग 18 महीने भारत के प्रधानमंत्री पद पर रहें, महान नायक शास्त्री जी। 

Lal Bahadur Shastri: शास्त्री जी के नेतृत्व में भारत ने एक नए दौर को देखा था, और साथ ही कई सारे बदलावों की नीव थे Lal Bahadur Shastri जी। शास्त्री जी ने कठिन समय में देश की बाग डोर संभाली थी। नेहरू युग के अंत के बाद देश तो पहले से ही बदलावों के दौर से गुजर रहा था, साथ ही देश को कई बदलावों की बहुत जरूरत भी थी। उसी बीच जब पाकिस्तान ने पर भारत के विरूध्द हमला किया था, तब Lal Bahadur Shastri ने देश का बहुत अच्छे से नेतृत्व किया और देश को उन हालातों में भी बहुत अच्छे तरीके से संभाला था। आज वही महान नायक छोटा कद विशाल व्यक्तित्व के धनी व्यक्ति की 56वीं पुण्यतिथि हैं।

Lal Bahadur Shastri
credit: google.com

देश के कठिन समय में संभाली थी भारत की जिम्मेदारी

Lal Bahadur Shastri
credit: google.com

भारत के पहले प्रधानमंत्री पंडित जवाहरलाल नेहरू के निधन के बाद लाल बहादुर शास्त्री को देश की बाग डोर संभालनी पड़ी थी। नेहरू जी का कार्यकाल 27 मई 1964 को समाप्त होने के बाद 9 जून 1964 को Lal Bahadur Shastri जी ने भारत के दूसरे प्रधानमंत्री के रूप में पदभार ग्रहण किया। नेहरू की मृत्यू के बाद पाकिस्तान ने भारत की बुरी हालत का फायदा उठाना चाहा और 1965 में भारत के खिलाफ युध्द छेड़ दिया।  

Lal Bahadur Shastri
credit: google.com

ये भी पढ़े: President Joe Biden Visits to El-Paso,Texas: Will it Change the Future of Migrants

पाकिस्तान की नापाक साजिशों को दिया जबाव 

Lal Bahadur Shastri
credit: google.com

Lal Bahadur Shastri जी बहुत ही शांत  और गांधी जी के सिध्दांतों पर चलने वाले थे। जिसपर पाकिस्तान का शास्त्री पर लगाए गए सभी अनुमान झूठ साबित हुए। पाकिस्तान को लगा था कि शास्त्री जी ने कमजोर प्रधानमंत्री साबित होंगे, लेकिन Lal Bahadur Shastri जी ने इसका पहल जबाव देते हुए पाकिस्तान को सबक सिखाया जिसकी दुनिया में किसी को उम्मीद नहीं थी। इसके बाद दुनिया के बड़े देशों को इस युध्द को खत्म करने की पहल करनी पड़ी।

Also Read: The Ant-Man And The Wasp: Quantumania का हिन्दी ट्रेलर हुआ आउट,इस दिन रिलीज होगी फिल्म

शिक्षक के संतान की रहस्मयी हालातों में मौत

लाल बहादुर शास्त्री का जन्म उत्तरप्रदेश के मुगलसराय में हुआ था। उनके पिता मुंशी शारदा प्रसाद श्रीवास्तव प्राथमिक विद्यालय में शिक्षक थे। जो बाद में राजस्व विभाग में क्लर्क की नौकरी करने लगे थे। शास्त्री जी एक बहुत ही छोटे परिवार के जन्में हुए व्यक्ति थे। जिन्होंने दुनिया में अपना नाम का इतिहास रच दिया हैं। लेकिन शास्त्री जी की मृत्यू आज भी रहस्मयी घटना बनी हुई हैं। इनके निधन के बारे में आज भी कोई साफ जानकारी नही मिलती हैं। माना जाता हैं कि शास्त्री जी ने 1965 में भारत पाकिस्तान युध्द में पाकिस्तान को करारा जबाव देते हुए लाहौर तक घुसपैठ कर ली थी। जिसके बाद ताशकंद में पाकिस्तानी के प्रधानमंत्री अयूब खान और लाल बहादुर शास्त्री ने एक-दूसरे के साथ समझौता कर लिया था। उन्होंने युद्ध खत्म करने के लिए समझौते पर हस्ताक्षर किए थे। जिसके बाद ही ताशकंद में शास्त्री जी की 11 जनवरी 1966 को रहस्यमयी परिस्थितयों में मौत हो गई थी.

ये भी पढ़े: Genelia Deshmukh की हुई इंडस्ट्री में वापसी, बताया कि ब्रेक ने बदला उनका नजरिया

RELATED ARTICLES
- Advertisment -

सर्वाधिक लोकप्रिय

- Advertisment -
‘Metro In Dino’ – अनुराग बसु द्वारा निर्देशित नयी फिल्म कैलाश खेर पर हमला का घटना – पुलिस ने तुरंत उसे गिरफ्तार किया भारतीय महिला क्रिकेट टीम की अंडर-19 वर्ल्ड कप जीत का जश्न Katrina Kaif के गाने ‘काला चश्मा’ पर डांस कर कर मनाया गुरु रंधावा और कपिल शर्मा के साथ ‘अलोन’ नामक एक म्यूजिक एल्बम के लिए तैयार सुष्मिता सेन की दमदार एक्टिंग को देख फैंस एक्साइटेड | ‘आर्या 3’ का धमाकेदार टीजर