Oversleeping: नींद की लत को कम करने के लिए अपनाएं ये तरीकें

अक्सर कहा जाता हैं कि जो लोग किसी भी समय आसानी से सो जाते हैं वे भाग्यशाली होते हैं। लेकिन विशेषज्ञों का कहना है कि ये आदत स्वास्थ्य समस्याओं (oversleeping disorder) को भी जन्म देती है। एक शोध के अनुसार, अत्यधिक नींद लेने से (oversleeping symptoms) मधुमेह और हृदय संबंधी जैसी बीमारियों का खतरा हो सकता है। तो आइए आज के इस आर्टिकल में हम जानते हैं कि नींद की लत (oversleeping issues) को कैसे कम किया जा सकता है।

Oversleeping: नींद की लत को कम करने के लिए अपनाएं ये तरीकें

मनुष्य को जीवित रहने के लिए जितना खाना-पिना जरूरी होता है उतना ही सोना भी जरूरी होता है। दिन भर काम करने के बाद, रात को जब हम बिस्तार पर जाते हैं तो हमें पर्याप्त नींद की आवश्यकता होती है। जिससे की हमारी बॉडी फिर से अक्टिव हो सके और उसमें अगले दिन काम करने के लिए एर्नेजी आ सके। 

अक्सर कहा जाता हैं कि जो लोग किसी भी समय आसानी से सो जाते हैं वे भाग्यशाली होते हैं। लेकिन विशेषज्ञों का कहना है कि ये आदत स्वास्थ्य समस्याओं (oversleeping disorder) को भी जन्म देती है। एक शोध के अनुसार, अत्यधिक नींद लेने से (oversleeping symptoms) मधुमेह और हृदय संबंधी जैसी बीमारियों का खतरा हो सकता है।

अमेरिकन एकेडमी ऑफ स्लीप मेडिसिन एंड द स्लीप रिसर्च सोसाइटी के अनुसार, मनुष्य को हर दिन 7-8 घंटे की नींद की आवश्यकता होती है। 7 घंटे सोने के बावजूद भी यदि आप आराम महसूस नहीं करते हैं और सोना चाहते हैं, तो ये नींद की लत (oversleeping effects) का संकेत हो सकता है।

Also Read: राजस्थान: कुंभकर्ण की तरह साल में 300 दिन सोता है नागौर का यह आदमी, इस अजीब बीमारी से है ग्रसित

तो आइए आज के इस आर्टिकल में हम जानते हैं कि नींद की लत (oversleeping issues) को कैसे कम किया जा सकता है।

  1. रात में सात से नौ घंटे की पर्याप्त नींद लें।
  2. वीकेंड पर अधिक न सोएं। इससे आपको वीक-डे पर भी अधिक नींद आने के चांस होते हैं। इसलिए अपने सोने का टाइम फिक्स रखें।
  3. सोने के बाद उठने पर तेज धूप में जाएं। रात में पर्दे या ब्लाइंड्स को खुला छोड़ने की कोशिश करें। क्योंकि सुबह की धूप आपको जगाने में मदद करती है।
  4. अलार्म लागकर सोएं, जिससे की आप समय पर उठ पाए और अत्यधिक नींद के आदी न हो पाएं।
  5. विशेष रूप से शाम 4 से 8 बजे तक सोने की कोशिश न करें। क्योंकि शाम की नींद आपकी रात की नींद को खराब करती है और रात की नींद आपके दिनचर्या को खराब करती है।
  6. रात को अधिक मात्रा में कैफीन लेकर न सोएं।

Also Watch: Axis hypersomnia | Sleep disorder | ज़्यादा नींद आने की बिमारी By Agnito Lifestyle